Bima Jyoti Vs Jeevan Labh: Plan 860 Vs Plan 936 उदाहरण के साथ योजना की तुलना

Bima Jyoti Vs Jeevan Labh: हेलो दोस्तो में आप सभी को एलआईसी के दो इंश्योरेंस प्लान का कंपैरिजन करके बताने वाला हूं। पहला जो इंश्योरेंस प्लान है वो है एलआईसी का जीवन लाभ प्लान जिसका प्लान नंबर है 936 और जो दूसरे इंश्योरेंस प्लान है वो है एलआईसी का प्लान बीमा ज्योति जिसका प्लान नंबर है 860 तो इस पोस्ट में हम सिर्फ और सिर्फ एग्जाम्पल की मदद से इन दोनों ही प्लान का कम्पैरिजन करने वाले हैं। Bima Jyoti Vs Jeevan Labh


Jivan Labh [Plan 936] - जीवन लाभ [प्लान 936]

Bima Jyoti Vs Jeevan Labh: समझने के लिए मान लेते हैं कोई व्यक्ति है जिसकी उम्र 20 साल की है वो इंश्योरेंस प्लान को लेना चाहते हैं और हम मान के चलते हैं कि यहां पर जो सम एश्योर्ड होगा वो यहां पर 10 लाख रुपए का है। यानि की 10 लाख रुपए का बीमा वो इसमें लेना चाहते हैं। 10 लाख रुपए का मतलब ये नहीं है कि आपको इसमें 10 लाख रुपए पे करने होंगे। 10 लाख रुपए यहां पर जो रिस्क कवर है उसका अमाउंट होता हैं या आपका बीमा 10 लाख रुपए का इसमें होते हैं तो आइए पहले बात करते हैं

जीवन लाभ की तो यहां पर ये व्यक्ति अगर जीवन लाभ प्लान लेते हैं तो यहां पर इसको पॉलिसी टर्म इंश्योरेंस करनी होगी तो अभी के लिए हम मान लेते हैं। ये व्यक्ति जो पॉलिसी टर्म चूज करते हैं वो 21 साल के लिए चूज करते हैं जिसमें इनको सिर्फ और सिर्फ 15 साल प्रीमियम की पेमेंट करनी होगी। यानि कि जो हमारा प्रीमियम पेइंग टर्म होगा वो 15 साल का होगा। सिर्फ 15 साल किस्त भरनी होगी और बाकी के 6 साल इनको किस्त पे नहीं करनी है और जो इंश्योरेंस प्लान रहेगा वो टोटल यहां पर 21 साल के लिए रहेगा।

अगर हम इसके प्रीमियम की कैलकुलेशन करते हैं तो इसका एक साल का जो प्रीमियम होगा वो होगा लगभग लगभग 54 हजार 246 रुपए। ये मैंने आपको ईयरली प्रीमियम बताया है। आप 6 महीने में 3 महीने या हर महीने का प्रीमियम जानना चाहता हैं तो वो भी आप स्क्रीन पर देख सकते हैं। Bima Jyoti Vs Jeevan Labh

अभी इस व्यक्ति की जो  वो 20 साल की हो चुकी हैं वो आने वाले 15 सालों के लिए इस पॉलिसी के प्रीमियम की पेमेंट करनी होगी क्योंकि जो हमारा प्रीमियम पेंटर है वो 15 साल का है। उसके बाद इस व्यक्ति को 6 साल वेट करना होगा क्योंकि जो पॉलिसी टर्म है वो भी 21 साल की है तो यहां पर आनेवाले 6 सालों के लिए इनको कोई भी प्रीमियम पे नहीं करना है। उसके बाद जब पॉलिसी के पूरे 21 साल हो जाएंगे तो यहां पर इस पॉलिसी की मैच्योरिटी हो जाती है। Bima Jyoti Vs Jeevan Labh

यानि कि जो आपकी इंश्योरेंस प्लान है वो खत्म हो जाते हैं और मैच्योरिटी के समय यहां पर एलआईसी से आपको सम एश्योर्ड मिलते हैं। बोनस मिलते हैं और फाइनल एडिशनल बोनस मिलते हैं। अगर हम सम एश्योर्ड की बात करें तो हमारा जो समय शॉट है वो 10 लाख रुपए हैं।

उसके अलावा अगर हम बात करे बोनस और फाइनल एडिशनल बोनस की तो यहां पर ये गारंटीड नहीं होता है। एलआईसी हर साल अपने पॉलिसी होल्डर के लिए बोनस डिक्लेयर करती है जो कि आप https://www.licindia.in/ पर जाकर देख सकते हैं। अगर हम एलआईसी के पिछले बोनस रिकॉर्ड्स को देखते हैं "Bima Jyoti Vs Jeevan Labh"

तो उसके अकॉर्डिंग यहां पर आपको लगभग लगभग 9 लाख 24 हजार रुपए का बोनस मिल जाता है। पर अगर हम बात करें फाइनल एडिशनल बोनस की तो उसमें आपको लगभग लगभग एक लाख रुपए का अमाउंट मिल जाता है तो टोटल मैच्योरिटी पर 20 लाख 24 हजार रुपए का अमाउंट आपको इसमें मिल सकता है Bima Jyoti Vs Jeevan Labh

लेकिन यहां पर मैं आपको फिर से बताना चाहूंगा कि जो बोनस है और जो फाइनल एडिशनल बोनस है। ये गारंटीड नहीं होते हैं यह किसी के बोनस पर डिपेंड करता है कि आपको एलआईसी कितना बोनस देती है और अगर हम बात करें टोटल प्रीमियम हमने कितना पे किया है तो इन 15 साल के दौरान हमने इसमें टोटल लगभग लगभग 7 लाख 97 हजार 3 सौ अड़तीस रुपए की पेमेंट करनी होगी। ये हमने बात की है मैच्योरिटी के बेनिफिट्स की। Bima Jyoti Vs Jeevan Labh


Also Read: ICICI Pru iProtect Smart

Also Read: SBI Life - Saral Jeevan Bima 

Also Read: LIC's Group Credit Life Insurance


Death Benefit Of Policy Holder -  पॉलिसी होल्डर की डेथ बेनिफिट 

Bima Jyoti Vs Jeevan Labh: आइए अब बात करते हैं कि अगर इस पॉलिसी होल्डर की डेथ हो जाती है तो इसके नॉमिनी या फैमिली को क्या क्या बेनिफिट इसमें मिलते हैं तो यहां पर अगर पॉलिसी होल्डर की दिक्कत होती है तो उसमें यहां पर संशोधन मिलते हैं। बोनस मिलते हैं और साथ ही फाइनल एडिशनल बोनस मिलते हैं तो यहां पर एग्जांपल के लिए मान लेते हैं कि पॉलिसी शुरू होने के 10 साल बाद इस पॉलिसी होल्डर की डेथ हो जाती है तो उस समय यहां पर 10 लाख रुपए का सम एश्योर्ड इसके नॉमिनी को मिलते हैं।

साथ ही अगर हम बोनस की बात करें तो यहां पर 10 साल में लगभग लगभग 4 लाख 84 हजार रुपए का बोनस आपकी पॉलिसी में हो जाता है तो यहां पर जो टोटल अमाउंट है वो 14 लाख 84 हजार रुपए तक का आपके नॉमिनी को डेथ के केस में मिल सकते हैं। अगर पॉलिसीहोल्डर की डेथ 10 साल बाद होती है तो Bima Jyoti Vs Jeevan Labh


Accidental Death Benefit - एक्सिडेंटल डेथ बेनिफिट

उसके बाद यहां पर बात आती है एक्सिडेंटल डेथ बेनिफिट की तो आप अपनी पॉलिसी में एक्स्ट्रा प्रीमियम देगी। ऐक्सिडेंटल डेथ बेनिफिट ऐड करा सकते हैं उसमें यहां पर अगर आपकी आदत एक्सीडेंट के कारण होती है तो यहां पर आपको 10 लाख रुपए का अमाउंट एक्स्ट्रा मिलता है। यानि कि जो 14 लाख 84 हजार रुपए का मांग मैंने आपको बताया है उतना तो मिलेगा ही मिलेगा साथ में 10 लाख रुपए का जो क्लेम है जोकि एक्सीडेंटल डेथ क्लेम है वो भी आपके नॉमिनी को मिल। इस बेनिफिट को आप अपनी पॉलिसी में ऐड करा सकते हैं।


Bima Jyoti [Plan 860] - बिमा ज्योति [प्लान 860]

आइए अब बात करते हैं एलआईसी के प्लान बीमा ज्योति की तो यहां पर इसमें भी यह मान के चलते हैं कि जो व्यक्ति ये जब वो 20 साल की है और जो समय शोर्ट है वो 10 लाख रुपए का है। अगर हम बात करें पॉलिसी टर्म की तो इस प्लान में जो मैक्सिमम पॉलिसी टर्म है वो 20 साल की है तो हमें यहां पर एग्जाम्पल में 20 साल की पॉलिसी टर्म ही लेनी होगी। उसके बाद बात आती है प्रीमियम पेइंग टर्म यानी आपको इसमें कितना साल पॉलिसी का प्रीमियम पे करना होगा। Bima Jyoti Vs Jeevan Labh

यहां पर अगर आप 20 साल की पॉलिसी टर्म लेते हैं तो इसमें 15 साल आपको पॉलिसी का प्रीमियम पे करना होगा। यानी पांच साल इसमें आपको प्रीमियम की पेमेंट नहीं करनी होगी तो यहां पर अगर हम इसके प्रीमियम की कैलकुलेशन करते हैं तो यहां पर आपको एक साल में लगभग लगभग 80 हजार 625 रुपए की प्रीमियम की पेमेंट करनी होगी। Bima Jyoti Vs Jeevan Labh

अगर आप छह महीने तीन महीने या हर महीने प्रीमियम देना चाहते हैं तो वो भी आप स्क्रीन पर देख सकते हैं तो यहां पर इस व्यक्ति को आने वाले 15 सालों के लिए हर साल 80 हजार 625 रुपए का प्रीमियम पे करना होगा। उसके बाद जब ये 15 साल कंप्लीट हो जाएंगे तो उसके बाद यहां पर इनको पांच साल कोई भी प्रीमियम पेन नहीं करना है। Bima Jyoti Vs Jeevan Labh

यहां पर आपको पांच साल वेट करना होगा और जब यहां पर आपकी पॉलिसी के 20 साल पूरे हो जाते हैं तो यहां पर आपकी जो पॉलिसी है उसकी मैच्योरिटी हो जाती है और मैच्योरिटी के समय यहां पर आपकी पॉलिसी का सम एश्योर्ड मिलता है और साथ ही गारंटीड एडिशन मिलते हैं। Bima Jyoti Vs Jeevan Labh

अगर हम सम एश्योर्डकी बात करें तो हमारी पॉलिसी का जो सम एश्योर्ड है वो 10 लाख रुपए हैं और साथ ही अगर हम गारंटीड एडिशन की बात करें तो एलआईसी यहां पर कहती है कि हम आपको 50 रुपए देंगे गारंटी डिडक्शन के रूप में। अगर आप 1000 हजार रुपए का समय शॉट लेते हैं और अगर आप एक लाख रुपए का समय शॉट लेते हैं तो उसमें आपका 5 हजार रुपए गारंटीड एडिशन हो जाता है

और इसी के साथ अगर आप 10 लाख रुपए का सम एश्योर्ड लेते हैं तो 50 हजार रुपए आपका गारंटीड एडिशन होते हैं। ये जो मैंने आपको गारंटीड एडिशन बताया है या ईयरली इसमें होते हैं तो अगर हमारी पॉलिसी में 50 हजार रुपए गारंटीड एडिशन एक साल में होते हैं तो 20 साल में जो हमारा टोटल गारंटीड एडिशन होगा वो 10 लाख रुपए में हो जाएगा। यानि की टोटल हमें मैच्योरिटी के समय 20 लाख रुपए का अमाउंट इसमें मिल जाता है। ये जो 20 लाख रुपए है ये गारंटीड है। Bima Jyoti Vs Jeevan Labh

एलआईसी ने इसमें कहा है कि जो भी ये अमाउंट होगा वो आपको गारंटी मिलेगा। लेकिन अगर हम बात करें एलआईसी के प्लान जीवन लाभ की तो उसमें जो गारंटी नहीं वो सिर्फ और सिर्फ सम एश्योर्ड है बोनस गारंटीड नहीं है। जो भी एलआईसी बोनस डिक्लेयर करेगी उसके अकॉर्डिंग आपको उसमें मैच्योरिटी मिलती है तो ये हमने बात की है मैच्योर देगी।


Also Read: Bank of Baroda Education Loan 2021

Also Read: LIC's BIMA JYOTI [Plan No 860]

Also Read: Vle Insurance


Death Benefit Of Policy Holder -  पॉलिसी होल्डर की डेथ बेनिफिट 

Bima Jyoti Vs Jeevan Labh: आइए अब बात करते हैं डेथ बेनिफिट की कि अगर इस पॉलिसी होल्डर के डेथ हो जाती है तो उसमें जो डेथ बेनिफिट है वो कितना मिलता है तो यहां पर भी हम मान के चलते हैं कि पॉलिसी शुरू होने के 10 साल बाद इस पॉलिसी होल्डर की डेथ हो जाती है तो जब भी पॉलिसी होल्डर की मौत होती है तो उस समय यहां पर संशोधित और गारंटीड एडिशन दिया जाता है। 

अगर हम सम एश्योर्ड की बात करें तो सम एश्योर्ड को कैलकुलेट करने के लिए एलआईसी यहां पर दो कैलकुलेशन करती है। दोनों में से ही जिसमें भी ज्यादा अमाउंट आता है वो अमाउंट एलआईसी के पॉलिसी होल्डर को मिल जाता है या उसके नॉमिनी को मिल जाते हैं

तो यहां पर जो पहली कैलकुलेशन है उसमें जो भी आपका बेसिक सम एश्योर्ड है उसका 125% देखा जाता है। यानि की अगर हम 10 लाख रुपए का 125% करते हैं तो वो हो जाता है 12 लाख 50 हजार रुपए। और दूसरा यहां पर जो भी आपका एनुअल प्रीमियम है उसका 7 गुना देखा जाता है जोकि 5 लाख 64 हजार 375 रुपए हो जाते हैं तो इन दोनों में से ही जो भी ज्यादा अमाउंट होगा वो आपका यहां पर सम एश्योर्ड माना जाएगा तो यहां से हमारा जो अमाउंट होगा वो होगा 12 लाख 50 हजार रुपए। Bima Jyoti Vs Jeevan Labh

उसके बाद अगर हम यहां पर गारंटीड एडिशन देखते हैं तो 10 साल के दौरान इसमें 5 लाख रुपए का आपकी पॉलिसी में गारंटीड एडिशन हो जाते हैं तो ये जो टोटल डेथ बेनिफिट होगा वो होगा इसमें 17 लाख 50 हजार रुपए का जोकि इस पॉलिसी होल्डर के नॉमिनी को मिल सकते हैं तो यहां पर हमने दोनों ही प्लान के एग्जांपल को देख लिया है।


Also Read: LIC Home Loan


Bima Jyoti Vs Jeevan Labh Comparison - बिमा ज्योति Vs जीवन लाभ तुलना

Bima Jyoti Vs Jeevan Labh Comparison - बिमा ज्योति Vs जीवन लाभ तुलना


दोस्तों मैंने आपके सामने काफी प्रयास करके दोनों प्लान का कंपैरिजन आपके सामने प्रस्तुत किया है और दोनों के अपने-अपने फायदे हैं लेकिन जो आपको ज्यादा फायदेमंद लगे वही आपको लेना चाहिए यहां आपको यह भी बताना चाहूंगा कि जहां पर ज्यादा हाई रिस्क रहता है वहां ज्यादा रिटर्न मिलने की उम्मीद भी होती है Bima Jyoti Vs Jeevan Labh

और जहां लो रिस्क रहते हैं जहां पर गारंटी होती है वहां पर थोड़ा कम ही मिलता है लेकिन वहां पर मानसिक संतुष्टि और शांति भी मिलती हैं फिर भी आपको अपने विवेक से निर्णय लेना है कि आप को इनमें से कौन सा प्लान ज्यादा बेस्ट लगा कमेंट करके आप जरूर बताइएगा ताकि अन्य लोगों को भी इससे निर्णय लेने में आसानी हो एक और नई जानकारी के साथ तब तक है Bima Jyoti Vs Jeevan Labh धन्यवाद 

Tag: Lic Jeevan Labh Calculator Maturity, Jeevan Pragati Vs Jeevan Labh, Lic Jeevan Labh With Example, Jeevan Labh Age Limit, Pli Vs Lic Jeevan Labh, Jeevan Labh 836 Commission, Lic Jeevan Labh Presentation, Is Lic Jeevan Labh A Good Policy